Sunday, June 26, 2022

न्यूज़ अलर्ट
1) मुंबई में बढ़ते कोरोना केस के बाद सड़कों पर फिर दिखेंगे क्लीन-अप मार्शल?.... 2) पैगंबर साहब पर आपत्तिजनक टिप्पणी के बाद नूपुर शर्मा की बढ़ती मुश्किलें .... 3) महाराष्ट्र में आ गई कोरोना की चौथी लहर?.... 4) गरवारे शिक्षण संस्थान-'विश्व पर्यावरण दिवस' पर वृक्षारोपण और पोस्टर प्रतियोगिता.... 5) जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों का खूनी खेल। .... 6) “लीलावती हॉस्पिटल में एडमिट एमएनएस अध्यक्ष राज ठाकरे दूसरी बार हुए कोरोना पॉजिटिव, टाली गई सर्जरी”.... 7) "पंजाबी गायक सिद्धू मूसे वाला की गोली लगने से मौत" ....
“कांग्रेस ने १५ साल बाद दीव में गंवाई सत्ता”
Monday, May 9, 2022 2:17:19 PM - By पायल शुक्ला

दीव के ७ पार्षदों ने काँग्रेस का साथ छोड़ थामा बीजेपी का हाथ।
दीव में काँग्रेस को बडा झटका, शनिवार को दीव के घोघला में आयोजित जनसभा में काँग्रेस नगर परिषद में १५ सालों से शासन कर रही कांग्रेस पार्टी के कुल ९ में से ७ पार्षदों ने भारतीय जनता पार्टी का दामन थाम लिया। इनमें हरीश कपाड़िया, दिनेश कपाड़िया, रविंद्र सोलंकी, रंजन राजू वनकर, भाग्यवंती सोलंकी, भावनाग दुधमल और निकिता शाह का नाम शामिल है। पार्षदों के साथ ही दर्जनों काँग्रेस समर्थकों ने भी भाजपा के साथ जाने का फैसला किया है। इस दल बदल के बाद निकाय में कांग्रेस की सीटों की संख्या महज दो रह गई है। वहीं, भाजपा पार्टी १० पार्षदों के साथ बहुमत में आ गई है। जिसके बाद दादरा नगर हवेली और दमन दीव के प्रभारी और भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव विजय राहटकर ने पार्टी में पार्षदों का स्वागत किया।
दरअसल ६ महीने पहले ही दादर नगर हवेली और दमन और दीव के प्रशासन ने कांग्रेस शासित दीव नगर परिषद के अध्यक्ष हरीश सोलंकी को निलंबित कर दिया था। खास बात है कि सोलंकी को अध्यक्ष पद से हटाए जाने के बाद यूटी में नागरिक निकाय के लिए प्रशासक नियुक्त किया गया था। साथ ही अध्यक्ष और उपाध्यक्ष पद के लिए भी अब तक चुनाव नहीं हुए हैं। वही विजय राहटकर का कहना है कि पार्षदों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भाजपा की 'विकास की राजनीति' को समर्थन देने के लिए भाजपा का दामन थामा है।