Saturday, May 18, 2024

न्यूज़ अलर्ट
1) अंशुमान सिंह राजपूत और काजल राघवानी की जोड़ी वाली फिल्म "बड़की बहू छोटकी बहू" ने मचाया गजब धूम.... 2) शुरू होने जा रहा है,काकोरी एक्शन का शताब्दी वर्ष .... 3) खतरों के खिलाड़ी 14 में भाग लेने पर अंकित गुप्ता ने तोड़ी चुप्पी, कहा- रोहित शेट्टी के साथ मीटिंग हुई थी लेकिन….... 4) रणवीर सिंह ने दीपिका पादुकोण संग तलाक की खबरों पर लगाया विराम.... 5) बिकवाली से शेयर बाजार में आया भूचाल, सेंसेक्स ने लगाया 1000 से अधिक अंकों का गोता.... 6) कांस फिल्म फेस्टिवल में चुनी गई उत्तराखंड की फिल्म ‘हमारे बारह’.... 7) एस्ट्राजेनेका दुनिया भर से वापस लेगी अपनी कोविड वैक्सीन… ये बताई वजह....
युवराज सिंह ने विराट कोहली के तारीफ के पढ़े कशीदे, कहा- ‘इस युग में सभी…’
Thursday, May 9, 2024 5:11:24 PM - By News Desk

युवराज सिंह - विराट कोहली
IPL 2024 अब अपने अंतिम चरण की ओर प्रस्थान कर चुका है. वहीं आईपीएल के बाद सभी खिलाड़ी टी20 विश्व कप 2024 खेलते हुए नजर आएंगे. टी20 विश्व कप को लेकर विराट कोहली काफी चर्चा में कोई उनके खेल की त्रुटि निकालने में व्यस्त है. तो कोई उनके खेल की सराहना करने में. इसी बीच भारतीय टीम के पूर्व ऑलराउंडर युवराज सिंह ने भी विराट कोहली की तारीफ करते हुए उन्हें इस पीढ़ी का सर्वश्रेष्‍ठ बल्‍लेबाज बताया है. युवराज सिंह ने विराट कोहली की तारीफ करते हुए कहा कि विराट कोहली किसी भी खिलाड़ी से अधिक हकदार हैं, वर्ल्‍ड कप मेडल जीतने के लिए. आपकी जानकारी के लिए बता दें, विराट कोहली का ये छठा टी20 वर्ल्ड कप होगा और वह चाहेंगे कि वह इस बार अपनी टीम के साथ इस खिताब को लेकर ही भारत वापस लौटे.
IPL 2024: युवराज सिंह ने ये कहा

युवराज सिंह ने खेले जा रहे आईपीएल 2024 के दौरान विराट कोहली के तारीफ के कशीदे पड़ते हुए कहा, ‘विराट कोहली ने इस युग में सभी रिकॉर्ड्स तोड़ दिए हैं. वो इस पीढ़ी के सर्वश्रेष्‍ठ बल्‍लेबाज हैं, सभी प्रारूपों में. मुझे लगता है कि वो उनमें से एक हैं, जिन्हें वर्ल्ड कप मेडल जीतने की जरूरत है. मुझे विश्वास है कि वो एक मेडल से संतुष्ट नहीं हुआ होगा. मेरे ख्‍याल से वो निश्चित ही मेडल जीतने का हकदार है.’ अपनी बातों को आगे रखते हुए उन्होंने कहा, ‘विराट कोहली अपने खेल को बहुत अच्छी तरह समझता है. वो जानता है कि अगर क्रीज पर हैं तो अंत में भारत को जीत दिला देगा और बड़े मौकों पर वो ऐसा कर चुका है- जैसे कि मोहाली में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ. एक बार उसमें लक्ष्य का पीछा करने का विश्वास आ जाए और स्थिति को जानते हुए, वो जानता है कि कैसे बैटिंग करना है. किस गेंदबाज पर निशाना साधना है और किस गेंदबाज की गेंद पर सिंगल लेना है. वो अपना खेल बदलकर खेलता है.’