Saturday, May 18, 2024

न्यूज़ अलर्ट
1) अंशुमान सिंह राजपूत और काजल राघवानी की जोड़ी वाली फिल्म "बड़की बहू छोटकी बहू" ने मचाया गजब धूम.... 2) शुरू होने जा रहा है,काकोरी एक्शन का शताब्दी वर्ष .... 3) खतरों के खिलाड़ी 14 में भाग लेने पर अंकित गुप्ता ने तोड़ी चुप्पी, कहा- रोहित शेट्टी के साथ मीटिंग हुई थी लेकिन….... 4) रणवीर सिंह ने दीपिका पादुकोण संग तलाक की खबरों पर लगाया विराम.... 5) बिकवाली से शेयर बाजार में आया भूचाल, सेंसेक्स ने लगाया 1000 से अधिक अंकों का गोता.... 6) कांस फिल्म फेस्टिवल में चुनी गई उत्तराखंड की फिल्म ‘हमारे बारह’.... 7) एस्ट्राजेनेका दुनिया भर से वापस लेगी अपनी कोविड वैक्सीन… ये बताई वजह....
गरवारे संस्थान में मनाया गया हिंदी दिवस- हेट न्यूज़ पर हुई परिचर्चा
Tuesday, September 19, 2023 11:18:26 AM - By संवाददाता

फेक न्यूज़ और हेट न्यूज़ चचेरी बहनें
मुंबई: मुख्य मुंबई विश्वविद्यालय द्वारा संचालित 'गरवारे विकास शिक्षण व विकास संस्थान' के हिंदी, अंग्रेजी और मराठी पत्रकारिता विभाग ने संयुक्त रूप से 'हिंदी दिवस' का आयोजन किया। वर्तमान समय में पत्रकारिता के लिए चुनौती बनी 'हेट न्यूज़' पर हुई परिचर्चा में वरिष्ठ पत्रकार व हिंदी दैनिक सामना के निवासी संपादक अनिल तिवारी ने साफगोई से कहा कि, जहां ईर्ष्या और द्वेष है, वह समाचार हो ही नहीं हो सकता, क्योंकि समाचार को आईने की तरह साफ़ और निष्पक्ष होना चाहिए। मुख्य अतिथि के रूप में अपने विचार रखते हुए उन्होंने फेक न्यूज़ और हेट न्यूज़ को चचेरी बहनें बताया, साथ ही प्रशिक्षु पत्रकारों को इससे सावधान रहने की नसीहत की। परिचर्चा में हिस्सा लेते हुए विशेष अतिथि राकेश यादव ने पत्रकारों को सकारात्मक पत्रकारिता करने की सलाह दी। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे संस्थान के संचालक डॉ. केयूर कुमार नायक ने पत्रकारों से निर्भीक होकर सच लिखने, दिखाने और संस्थान का नाम उज्ज्वल करने का आह्वान किया। इस अवसर पर हिंदी पत्रकारिता विभाग के समन्वयक और आयोजक सैयद सलमान ने प्रशिक्षु पत्रकारों को हेट न्यूज़ से दूर रहने और सामाजिक समरसता वाली ख़बरों को प्राथमिकता देने के लिए प्रेरित किया। मराठी विभाग की समन्वयक नम्रता कडु ने हेट न्यूज़ को पत्रकारिता के लिए अभिशाप बताया। अंग्रेजी विभाग के समन्वयक जैमीन वैष्णव एक बार तब चर्चा में आए थे, जब उन्होंने सोशल मीडिया पर धर्म विशेष के खिलाफ चल रही नफरत को रिकॉर्ड कर अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर प्रसारित कर दिया था। जांच एजेंसियों ने तब उन्हें खूब तंग किया था। उसी का उदहारण देते हुए जैमीन वैष्णव ने कहा कि नफरत को रोकने के बजाय नफरत फैलाने वालों को प्रोत्साहन मिलना चिंता की बात है। वरिष्ठ पत्रकार वागीश सारस्वत ने विद्यार्थियों को सत्य के साथ खड़े रहने का आह्वान किया। दीपा सिंह ने विद्यार्थियों को सोशल मीडिया के खतरों के प्रति आगाह किया। वंदना सिंह ने डिजिटल प्लेटफॉर्म पर हेट न्यूज़ के फैलने पर चिंता व्यक्त की। पर्यावरण संरक्षण को महत्व देते हुए प्लास्टिक से दूर रहने के प्रति जान-जागरूकता लाने का कार्य कर रही संस्था नई उमंग चैरिटेबल ट्रस्ट और ड्रीम मरोल के पदाधिकारियों की तरफ से इमरान शेख ने भी अपने विचार रखे। संस्था ने ड्रीम मरोल प्रोजेक्ट द्वारा उपस्थितजनों को प्रेरित करने के लिए कपड़े की थैलियां वितरित कर हिंदी दिवस को यादगार बना दिया। इस अवसर पर हिंदी, अंग्रेजी, मराठी के विद्यार्थियों ने अपनी स्वरचित रचनाएं पढ़ीं, हेट न्यूज़ को लेकर अपने विचारों को व्यक्त किया और सामूहिक गीत गाकर अपनी भावनाएं व्यक्त कीं। कार्यक्रम में मशहूर शायर लक्षण शर्मा वाहिद सहित अनेक, साहित्यकार, पूर्व विद्यार्थी व पत्रकार विशेष रूप से उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन एड. दीनानाथ पांडेय ने और आभार प्रदर्शन आकांक्षा यादव ने किया। कार्यक्रम को सफल बनाने में सुरभि सिंह, अंकिता सिंह, शिखा गिरी, मनीषा जोशी, प्रखर गुप्ता, रोशन पाटिल और सलमान पठान का उल्लेखनीय योगदान रहा।