Saturday, April 13, 2024

न्यूज़ अलर्ट
1) मल्टी टैलेंटेड स्टार : पंकज रैना .... 2) राहुल गांधी की न्याय यात्रा में शामिल होंगे अखिलेश, खरगे की तरफ से मिले निमंत्रण को स्वीकारा.... 3) 8 फरवरी को मतदान के दिन इंटरनेट सेवा निलंबित कर सकती है पाक सरकार.... 4) तरुण छाबड़ा को नोकिया इंडिया का नया प्रमुख नियुक्त किया गया.... 5) बिल गेट्स को पछाड़ जुकरबर्ग बने दुनिया के चौथे सबसे अमीर इंसान.... 6) नकदी संकट के बीच बायजू ने फुटबॉलर लियोनेल मेस्सी के साथ सस्पेंड की डील.... 7) विवादों में फंसी फाइटर, विंग कमांडर ने भेजा नोटिस....
इस्कॉन अपनी गाय कसाइयों को बेचता है: मेनका गांधी
Thursday, September 28, 2023 12:04:36 AM - By News Desk

मेनका गांधी
भाजपा सांसद मेनका गांधी ने धार्मिक संगठन इंटरनेशनल सोसाइटी फॉर कृष्णा कॉन्शसनेस (इस्कॉन) को "सबसे बड़ा धोखेबाज" बताया है। मेनका का आरोप है कि इस्कॉन अपनी गौशालाओं से गायों को कसाइयों को बेचता है। इस्कॉन को दुनिया में सबसे प्रभावशाली कृष्ण संप्रदाय माना जाता है। अमेरिका, भारत समेत कई देशों में इसकी शाखाएं और संपत्तियां हैं। इस्कॉन ने मेनका गांधी के आरोपों को "निरर्थक और झूठा" कहकर खारिज कर दिया है।

पूर्व केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी पशु प्रेमी हैं। देश में उन्हें पशु अधिकार कार्यकर्ता के रूप में जाना जाता है। पशु कल्याण के मुद्दों को लेकर वो मुखर रहती हैं। उनकी सक्रियता के कारण सरकार को कई कानून बनाने पड़े।

एनडीटीवी की एक रिपोर्ट के मुताबिक उनका एक वीडियो वायरल है, जिसमें वो कहती सुनाई दे रही हैं, "इस्कॉन देश में सबसे बड़ा धोखेबाज है। यह गौशालाओं का रखरखाव करता है और इसके नाम पर सरकार से बड़ी जमीनों का लाभ लेता है।" उसी वीडियो में फिर वो आंध्र प्रदेश में इस्कॉन की अनंतपुर गौशाला का जिक्र करती हैं, जहां वो होकर आई हैं। मेनका गांधी कहती हैं वहां उन्हें ऐसी कोई गाय नहीं मिली जो दूध न देती हो या बछड़े न देती हो। पूरी डेयरी में एक भी सूखी गाय नहीं थी। एक भी बछड़ा नहीं था। इसका मतलब है कि सभी बिक गईं थीं।"

मेनका गांधी के आरोप गंभीर हैं। उनके तर्क ऐसे हैं, जिन्हें आसानी से खारिज नहीं किया जा सकता। उसी वायरल वीडियो में मेनका गांधी कह रही हैं- "इस्कॉन अपनी सारी गायें कसाइयों को बेच रहा है। और वे सड़कों पर 'हरे राम हरे कृष्ण' गाते हैं। फिर वे कहते हैं कि उनका पूरा जीवन दूध पर निर्भर है। शायद, किसी ने भी इतनी गाय, बछड़े कसाइयों को नहीं बेचे हैं जितने उन्होंने बेचे हैं।" इस्कॉन इतना बड़ा धार्मिक संगठन बन गया है कि इसके खिलाफ शायद ही कोई जांच होती हो। इस्कॉन के खिलाफ कोई नेगेटिव खबर शायद ही मीडिया में दिखाई दी है। हालांकि वृंदावन में उसके आश्रम या स्टे होम चर्चा में रहे हैं, जहां इस्कॉन विदेशी मेहमानों को भेजता है। क्योंकि वृंदावन कृष्ण की जन्मस्थली मानी जाती है।
बहरहाल, इस्कॉन ने मेनका गांधी के आरोपों को खारिज कर दिया है। इस्कॉन ने कहा कि वह न केवल भारत में बल्कि विश्व स्तर पर गाय और बैल की सुरक्षा और देखभाल में सबसे आगे रहा है। इस्कॉन ने कहा, "गायों और बैलों की सेवा उनके जीवन भर की जाती है, न कि उन्हें कसाइयों को बेचा जाता है।"