Saturday, April 13, 2024

न्यूज़ अलर्ट
1) मल्टी टैलेंटेड स्टार : पंकज रैना .... 2) राहुल गांधी की न्याय यात्रा में शामिल होंगे अखिलेश, खरगे की तरफ से मिले निमंत्रण को स्वीकारा.... 3) 8 फरवरी को मतदान के दिन इंटरनेट सेवा निलंबित कर सकती है पाक सरकार.... 4) तरुण छाबड़ा को नोकिया इंडिया का नया प्रमुख नियुक्त किया गया.... 5) बिल गेट्स को पछाड़ जुकरबर्ग बने दुनिया के चौथे सबसे अमीर इंसान.... 6) नकदी संकट के बीच बायजू ने फुटबॉलर लियोनेल मेस्सी के साथ सस्पेंड की डील.... 7) विवादों में फंसी फाइटर, विंग कमांडर ने भेजा नोटिस....
श्रीलंका के राष्ट्रपति को स्वयं और परिवार की सुरक्षा का डर, गारंटी स्वरूप सुरक्षित बाहर जाने की रखी शर्त।
Wednesday, July 13, 2022 - 12:50:26 AM - By पायल शुक्ला

श्रीलंका के राष्ट्रपति को स्वयं और परिवार की सुरक्षा का डर, गारंटी स्वरूप सुरक्षित बाहर जाने की रखी शर्त।
राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे और प्रधानमंत्री महिंद्रा राजपक्षे के मध्य वार्तालाप।
श्रीलंका में समस्या थमने का नाम नहीं ले रही है। बढ़ती महंगाई से आम जनता परेशान है वही दूसरी तरफ राजपक्षे परिवार को लेकर आक्रोशित जनता राष्ट्रपति के इस्तीफे की मांग कर रही है। इसी घटनक्रम से जुड़ी खबर आ रही है कि राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे ने इस्तीफा देना स्वीकार कर लिया परंतु उसके पहले उनकी शर्त है। शर्त के अनुसार उन्होंने परिवार समेत खुद के लिए सुरक्षा मांगी है। उनका कहना है कि वो परिवार समेत देश से बाहर जाना चाहते हैं। बता दें कि १३ जुलाई को गोटबाया ने इस्तीफा देने का ऐलान किया था। परंतु अब गोटबाया की इस शर्त से माहौल पुनः गरमा गया है। खबर यह भी है कि सोमवार को गोटबाया ने इस्तीफे पर दस्तखत कर दिए है। उम्मीद है कि कल स्पीकर इसका ऐलान कर सकते है।
खतरे को देखते हुए कल बीती रात राजपक्षे के भाई और पूर्व वित्त मंत्री बासिल राजपक्षे को अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर इमीग्रेशन स्टाफ और एयरपोर्ट कर्मचारियों ने विरोध करते हुए उन्हें देश छोड़ने से रोक लिया। जिसके फलस्वरूप बासिल को वापस लौटना पड़ा था। कुछ समय पहले ही बासिल ने अपने वित्त मंत्री पद से इस्तीफा दिया था। लोगों को पहले ही आशंका थी कि राजपक्षे परिवार जल्दी ही देश छोड़कर भागने की तैयारी में है।
इसी परिस्थिति को देखते हुए गोटबाया राजपक्षे ने लोगों के समक्ष शर्त रखी। अगर बुधवार को राष्ट्रपति ने इस्तीफा नहीं दिया तो कोलंबो में हालात और बेकाबू हो जाएंगे। राजपक्षे ने अपनी शर्त रख दी और इस बात को लेकर विपक्ष में बातचीत भी चल रही है। लेकिन अभी तक कोई भी दल इस सुझाव पर अपनी प्रतिक्रिया देने को तैयार नहीं है। तो वही दूसरी तरफ बुधवार को राष्ट्रपति इस्तीफा देंगे या नहीं इस पर भी संभावित प्रतिक्रिया सही रूप में नहीं मिल रही है। फिलहाल ये तो कल ही पता चलेगा कि राष्ट्रपति इस्तीफा देंगे या श्रीलंका में माहौल और बिगड़ेगा।