Sunday, September 22, 2019

न्यूज़ अलर्ट
1) अरामको पर हमले के बाद सऊदी में सेना भेजेगा अमेरिका, ईरान ने भी तरेरी आंख.... 2) जल्द 10 की जगह 11 अंक का होगा मोबाइल नंबर.... 3) बड़ी खबर : एयर इंडिया के विमान पर तूफान का कहर, .... 4) चढ़ेगा चुनावी बुखार : महाराष्ट्र में 21 अक्टूबर को होगा चुनाव, 24 अक्टूबर को आएँगे नतीजे.... 5) टीवी चैनल पर लगा ढाई लाख का जुर्माना .... 6) मुंबई के पूर्वी उपनगरों में 'गैस रिसाव': ख़बर से बेचैनी- नागरिक उलझन में.... 7) राजनाथ सिंह ने तेजस में भरी उड़ान- उड़ान भरने वाले पहले रक्षामंत्री ....
जानें शुगर का किस-किस तरह से इस्तेमाल हो सकता है नुकसानदेह
Friday, August 30, 2019 - 2:07:31 AM - By हेल्थ डेस्क

जानें शुगर का किस-किस तरह से इस्तेमाल हो सकता है नुकसानदेह
शुगर
आजकल खाने की ज्यादातर चीजों में शुगर की अधिकता होती है, जबकि आपके दिल को पसंद नहीं कि आप ज्यादा शुगर वाली चीजें खाएं। अपने दिल और सेहत को शुगर के दुष्प्रभाव से कैसे बचाएं, विशेषज्ञों से बातचीत के आधार पर जानकारी देता आलेख

अगर कोई कहता है कि दिल का रास्ता मीठी चीजों से होकर जाता है, तो उस पर बिल्कुल ध्यान न दें। यह आपके लिए बीमारियों का कारण बन सकता है। दांतों व आपकी हड्डियों की संरचना को कमजोर करने के साथ-साथ रिफाइंड शुगर आपके दिल को भी नुकसान पहुंचाती है। आपको हैरान होने की जरूरत नहीं है, क्योंकि राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी लगातार यह चेतावनी दी जा रही है कि शुगर आपकी सेहत के लिए बेहद हानिकारक हो सकती है। आइये जानें कि शुगर का किस-किस तरह से इस्तेमाल आपके लिए नुकसानदेह साबित हो सकता है-

शुगर मेटाबॉलिज्म
हमारे शरीर को कार्बोहाइड्रेट्स को एब्जॉर्ब करने के लिए इसे कॉम्प्लेक्स कार्बोहाइड्रेट्स से अलग करना पड़ता है। यह सब आंतों में मौजूद एंजाइम्स के जरिए होता है, जहां साधारण शुगर होती है। ग्लूकोज हमारे रक्त में घुलकर हर जगह पहुंचता है। फिर यह हमारी कोशिकाओं तक पहुंच कर मेटाबॉलिज्म को शक्ति देता है और हमें ऊर्जा प्रदान करता है। संचित ऊर्जा के लिए लिवर और मसल सेल्स द्वारा इसी ग्लूकोज का कॉम्प्लेक्स कार्बोहाइड्रेट ग्लाइकॉन बनता है। लेकिन यदि इस शुगर की मात्रा सामान्य से अधिक हो जाए, तो इससे हमारे शरीर और दिल दोनों को नुकसान पहुंचता है।
शरीर और दिल के लिए खतरनाक मोटापा
साधारण शुगर खाली कैलरी से भरी होती है और जब हमारे मेटाबॉलिज्म को बूस्ट करने और शरीर को ऊर्जा देने के लिए थोड़े से शुगर की जरूरत होती है, ऐसे में अतिरिक्त कैलरी जमा होती रहती है, जो मोटापे की वजह बनती है। मोटापे का संबंध कई प्रकार की स्वास्थ्य समस्याओं से है। दिल की बीमारियां और हाइपरटेंशन हो या आथ्र्राइटिस या प्रॉस्टेट, मोटापे की वजह बन सकती है। शुगर वाले मीठे पेय पदार्थ (सॉफ्र्ट ड्रिंक, एनर्जी ड्रिंक और विटामिन वॉटर ड्रिंक) आदि इनमें शामिल हैं।

डायबिटीज
मोटापे के बाद जो दिल का सबसे बड़ा दुश्मन है, वह है डायबिटीज टाइप 2। डायबिटीज की समस्या भी मोटापे की तरह ही होती है, जो बेहद तेजी से बढ़ती है। इसमें भी शुगर से भरपूर चीजों की भूमिका अहम होती है। इससे डायबिटीज का खतरा अधिक बढ़ता है। ऐसे में जिन लोगों में डायबिटीज की आशंका रहती है, उन्हें मीठी चीजों से दूर रहने को कहा जाता है।

कोलेस्ट्रॉल
डायबिटीज और मोटापे की समस्याएं साथ मिलकर कोलेस्ट्रॉल का कारण बनती हैं। यह कोलेस्ट्रॉल आपके दिल के लिए मुश्किल हालात उत्पन्न करता है। यह जानना तो और भी डरावना है कि नई पीढ़ी के खून में पहले वालों की तुलना में अधिक कोलेस्ट्रॉल घुल रहा है। इसका श्रेय जाता है रिफाइंड शुगर, जिस पर युवाओं की अधिक निर्भरता है।

ब्लड प्रेशर
ब्लड प्रेशर का संबंध शुगर और सोडियम से भरपूर आहार से है। अल्कोहल और कैल्शियम का अधिक मात्रा में सेवन और पोटैशियम का कम इस्तेमाल भी इसमें महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

मेटाबॉलिक सिंड्रोम
दिल की बीमारियों को बढ़ावा देने वाली तमाम समस्याओं के समूह को मेटाबॉलिक सिंड्रोम कहते हैं। पेट का मोटापा इसके लिए काफी जिम्मेदार साबित होता है। पुरुषों की कमर की चौड़ाई 40 इंच और महिलाओं की कमर की चौड़ाई 35 इंच से अधिक नहीं होनी चाहिए।