Wednesday, December 19, 2018

न्यूज़ अलर्ट
1) गाँधी जयंती पर 'मारवा' का स्वच्छता अभियान.... 2) मुंबई विद्यापीठ से संबद्ध कॉलेजों में 29 सितम्बर तक प्रवेश.... 3) मुंबई और आसपास के इलाकों में ठंडी हवा के साथ बारिश.... 4) राफेल डील पर एनसीपी बैकफुट पर- सफाई, देते हुए कहा शरद पवार ने मोदी को नहीं दी क्लीन चिट.... 5) सर्जिकल स्ट्राइक की दूसरी वर्षगांठ- पराक्रम पर्व का पीएम ने किया उद्घाटन.... 6) पेट्रोल डीजल की कीमतों में फिर बड़ी बढ़ोतरी.... 7) सार्क मीटिंग में सुषमा स्वराज ने किया नजरअंदाज तो भड़का पाकिस्‍तान, जताई नाराजगी....
महाराष्ट्र : बीड में बाबा साहब अंबेडकर की तस्वीर को लेकर दलितों की पिटाई
Monday, July 25, 2016 2:09:56 AM - By एजेंसी

फ़ाइल फ़ोटो
दलितों के साथ पिटाई की घटनाएं बढ़ती ही जा रही हैं। गुजरात के ऊना का मामला अभी शांत भी नहीं हुआ था कि महाराष्ट्र के बीड में दो दलित युवकों को पीटने का मामला सामने आया है।

महाराष्ट्र के बीड में भी 25-30 लोगों के एक गुट पर दो दलित युवकों को पीटने का आरोप लगा है। बताया जा रहा है कि बाइक से मामूली टक्कर लगने के बाद इनकी जमकर पिटाई की गई। दोनों युवको को माजलगांव के अस्पताल में इलाज के लिए दाखिल किया गया है।

बताया जाता है कि तीन मोटरसाइकिलों पर सवार होकर मयूर और आकाश के चार और दोस्त बीड़ के सावरगांव में घूमने निकले थे। एक पेट्रोल पंप पर कुछ गाड़ियों को ओवरटेक करना उन्हें महंगा पड़ गया । दोनों का आरोप है कि कुछ सर्वणों को यह बात नागवार गुजरी। 25-30 लोग इकठ्ठे हुए और सारे दोस्तों को बुरी तरह पीटा। चार दोस्तों ने शिकायत दर्ज नहीं कराई, लेकिन आकाश और मयूर थाने पहुंचे।

विडा गांव के 23 वर्षीय आकाश वाघमारे और 22 वर्षीय मयुर लोखंडे अपने बाइक से अपने रिश्तेदारों से मिलने निमगांव जा रहे थे। इसी दौरान सावरगांव में इनकी बाइक पर बाबा साहब अंबेडकर की तस्वीर लगी होने के कारण दोनों युवकों को बुरी तरह से पीटा गया। पीड़ित आकाश वाघमारे ने बताया " मेरी गाड़ी पर बाबासाहेब की फोटो थी। उन्होंने मेरी गाड़ी को कट मारा, आगे लगाई, फिर मुझे मारने लगे। बेल्ट से, मुक्कों से ऐसे मार रहे थे जैसे मेरी जान ले लेंगे। उन्होंने मुझे जातिसूचक गालियां दीं।" मारपीट से आकाश और मयूर की पीठ की त्वचा उधड़ गई है। बदन पर चोट के निशान गहरे हैं। इस मामलें में माजलगांव के पुलिस थाने में मामला दर्ज कराया गया है।

पुलिस ने आईपीसी की अलग-अलग धाराओं के अलावा दलित उत्पीड़न के तहत भी मामला दर्ज किया है। बीड़ के डीएसपी हरि बालाजी ने बताया " 6 लड़के माजलगांव से साबरगांव गए थे। उनका कहना है कि 25-30 लोग आए, उन्हें बुरी तरह मारा। ज्यादा जख्म नहीं हैं, इनके साथ और चार लोग थे लेकिन उन्होंने स्टेटमेंट नहीं दिया है। हमने जांच शुरू कर दी है, लेकिन फिलहाल आरोपी नहीं मिले हैं।