Wednesday, December 11, 2019

न्यूज़ अलर्ट
1) पूर्व CJI रंजन गोगोई पर विशाल का अपमानजनक ट्वीट, सिंगर पर भड़के यूजर्स.... 2) महाराष्ट्र पर सुनवाई में जब जस्टिस बोले- यहां लोग PM बनने की भी मांग करते हैं.... 3) खूंखार आतंकी बगदादी की मौत को लेकर ट्रंप ने बोला झूठ? ताजा रिपोर्ट्स में नए खुलासे से मची खलबली.... 4) बैन झेलने के बाद Lionel Messi की अर्जेंटीना फुटबॉल टीम में हुई वापसी.... 5) येस बैंक को सितंबर तिमाही में हुआ 629 करोड़ रुपये का एकीकृत घाटा.... 6) महाराष्‍ट्र में सरकार गठन पर बोले शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे, लोगों को जल्‍द ही पता चल जाएगा कि....... 7) कांग्रेस का दावा, WhatsApp स्पाइवेयर के जरिए प्रियंका गांधी का फोन भी किया गया हैक....
Vodafone भारत से अपना बिजनेस बंद करने की तैयारी में: रिपोर्ट
Friday, November 1, 2019 12:07:30 AM - By न्यूज डेस्क

प्रतीकात्मक चित्र
भारत की बड़ी टेलीकॉम कंपनियों में से एक Vodafone भारत में अपना बिजनेस बंद कर सकती है. ये रिपोर्ट न्यूय एजेंसी IANS की तरफ से है. इस रिपोर्ट के मुताबिक वोडाफोन वोडाफोन घाटे में चल रही है. हालांकि कंपनी ने अब तक इस खबर को लेकर कोई भी स्टेटमेंट जारी नहीं किया है.

गौरतलब है कि रिलायंस जियो के आने के बाद भारतीय टेलीकॉम कंपनी आईडिया और वोडाफोन का मर्जर हो गया है और अब यो दोनों कंपनियां मिल कर काम करती हैं. IANS की रिपोर्ट के मुताबिक वोडाफोन वोडाफोन अपनी पैकिंग कर चुका है और किसी भी समय यहां से जा सकता है. यह ऑपरेशनल लॉस और मार्केट कैपिटलाइजेशन में गिरावट की वजह से हो रहा है. कंपनी इसी वजह से लगातार घाटे में जा रही है.

इस रिपोर्ट में ये भी कहा गया है कि पिछले कुछ समय में वोडाफोन के लाखों कस्टमर्स घटे हैं. ताजा फिनांशियल क्वॉर्टर में कंपनी को नुकसान हुआ है. स्टॉक मार्केट वैल्यू भी लगातार कम हो रहे हैं. जून 2019 में कंपनी ने 4,067 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है जो इसी समय 2018 से लगभग दो गुना ज्यादा है.

कुछ दिन पहल एक रिपोर्ट आई थी कि वोडाफोन आईडिया बकाया राशी जमा करने के लिए किसी लेंडर का सहारा लेने की तैयारी कर रही है. हालांकि बाद में वोडाफोन ने इस रिपोर्ट को खारिज करते हुए कहा कि ऐसा नहीं है और कंपनी तय समय से बकाया चुका रही है.

सुप्रीम कोर्ट ने AGR जजमेंट के तहत वोडाफोन-आईडिया को 28,309 करोड़ रुपये का भुगतान करने को कहा है. रिपोर्ट के मुताबिक अगर संभव हुआ तो कंपनी इस कोर्ट ऑर्डर के रिव्यू के लिए आवेदन कर सकती है. IANS की एक रिपोर्ट में कोटक इंस्टिच्यूशनल इक्विटीज ने कहा है, ’28,500 करोड़ रुपये के आउटस्टैंडिंग लाइब्लिलिटीज में कंपनी को अगर राहत नहीं मिलती है तो जाहिर है वोडाफोन आईडिया के लिए मुश्किल होगी.