Sunday, October 20, 2019

न्यूज़ अलर्ट
1) अभिवन बिंद्रा पर भड़कीं मैरी कॉम, कहा- बॉक्सिंग में दखल ना दें.... 2) फेसबुक दुनिया के शीर्ष 10 ब्रैंड से हुआ बाहर, एप्पल पहले स्थान पर.... 3) कमलेश तिवारी के बेटे ने कहा- मुझे किसी पर नहीं विश्वास, हो एनआईए जांच.... 4) तुर्की के PAK समर्थित स्टैंड पर भारत का जवाब, PM मोदी ने रद्द की अपनी यात्रा.... 5) बॉलीवुड के तीनों खान ने दोहराए गांधीजी के विचार, PM मोदी ने शेयर किया वीडियो.... 6) नहीं चला लाल कप्तान का जादू, पहले दिन ही सैफ की फिल्म बॉक्स ऑफिस पर धड़ाम.... 7) सऊदी अरब: मदीना में भयानक सड़क हादसा, 35 विदेशियों की मौत....
मृत्यु प्रमाण पत्र के लिए कंधे पर बच्चे की लाश लेकर अस्पताल में दौड़ता रहा पिता
Thursday, October 3, 2019 9:08:19 PM - By न्यूज डेस्क

पीड़ित पिता
जिला अस्पताल में बुधवार को संवेदनहीनता फिर एक बार देखने को मिली। जब एक पिता बच्चे का शव कंधे पर लेकर जिला अस्पताल में भटकता रहा लेकिन अस्पताल के लोगों ने मृत्यु प्रमाणपत्र काफी देर में बनाया।

थाना क्षेत्र नीमगांव के ग्राम रमुआपुर निवासी दिनेशचंद के चार वर्ष के पुत्र दिव्यांशु को जिला अस्पताल में बुखार के चलते भर्ती कराया गया था। बुधवार को उसकी मौत हो गई। बच्चे की मौत की सूचना के बाद पिता बेहाल हो गया।

अस्पताल में उसे बताया गया कि बच्चे का मृत्यु प्रमाणपत्र बनवाना होगा। इसपर दिनेशचंद परेशान हो गया। बेटे के गम ने उसे पहले ही तोड़ दिया था और अब अस्पताल के फरमान के कारण उसे कुछ सूझ नहीं रहा था। वह बच्चे के शव को कंधे पर लेकर अस्पताल के चक्कर काटता रहा। वह लोगों से मदद भी मांगता रहा।

आंखों में आंसू और कंधे पर बेटे की लाश

नीमगांव के ग्राम रमुआपुर के दिनेश की आंखों में आंसू और कंधे पर बेटे का शव. जिस किसी ने भी यह मंजर देखा उसकी आंख नम हो गई। बेबस दिनेश कभी अस्पताल के इस काउंटर पर जाता तो कभी उस काउंटर पर। चक्कर लगाते-लगाते वह पस्त हो गया। काफी देर बाद जिला अस्पताल में उसके बेटे का मृत्य प्रमाणपत्र बन पाया। तब जाकर वह बेटे का शव लेकर जा पाया। उधर मामले में सीएमएस डॉ. आरके वर्मा का कहना है कि मरीज की मौत के बाद उसका प्रमाणपत्र जारी हो जाता है। ऐसी कोई परेशानी नहीं होती।