Wednesday, May 22, 2019

न्यूज़ अलर्ट
1) सुदेश बेरी चा आपल्या मुलाच्या डेब्यूट चित्रपटासाठी सल्ला.... 2) 'फैनी' का खतरा, ओडिशा-केरल समेत कई राज्यों में हाई अलर्ट घोषित .... 3) मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष पद से निरुपम की छुट्टी- मिलिंद देवड़ा बने नए अध्यक्ष .... 4) चेन्नई का IPL 2019 टूर्नामेंट में विजयी आगाज-बेंगलुरू को 7 विकेट से हराया .... 5) आरएसएस स्वयंसेवक के घर पर देसी बम फटा, दो बच्चे घायल, घर से मिले घातक हथियार.... 6) 70 गैर सरकारी संगठन हुए एकजुट- चलाएंगे मोदी विरुद्ध कैंपेन .... 7) जस्टिस पिनाकी चंद्र घोष बने देश के पहले लोकपाल- राष्ट्रपति कोविंद ने लगाई मुहर....
गाय और भैंस के दूध में अंतर
Thursday, March 14, 2019 10:27:53 AM - By कृष्णन कुमार

भैंस के दूध मे गाय के दूध की अपेक्षा कोलेस्ट्रोल कम होता है , लेकिन टोटल फैट अधिक होता है
भैंस का दूध ( Buffalo Milk ) और गाय के दूध Cow Milk को लेकर कई लोगों के मन में संशय होता है जैसे कि – भैंस के दूध और गाय के दूध में क्या अंतर होता है , क्या भैंस का दूध लाभदायक नहीं होता , भैंस का दूध पीना चाहिए या नहीं इत्यादि।

भैंस का दूध नहीं पीना चाहिए यह कहना बिलकुल गलत होगा। यह जरुर है कि गाय के दूध जैसी कुछ खूबियां भैंस के दूध में नहीं होती।

भैंस का दूध भी पोषक तत्वों से भरा होता है। भैंस के दूध में प्रोटीन , कैल्शियम , मैग्नीशियम , फास्फोरस , जिंक , कॉपर , विटामिन बी 12 , विटामिन A तथा इनके अलावा भी कई प्रकार के पोषक तत्व होते हैं।


भैंस और गाय के दूध में अंतर

गाय के दूध और भैंस के दूध में अंतर इस प्रकार होता है –

भैंस के दूध मे गाय के दूध की अपेक्षा कोलेस्ट्रोल कम होता है , लेकिन टोटल फैट अधिक होता है। फैट अधिक होने के कारण ही यह पचने में भारी होता है। गाय के दूध में फैट कम होते है , पचने में हल्का होता है तथा इसमें केलोरी भी कम होती है।
भैंस का दूध छोटा बच्चा पचा नहीं पाता जबकि गाय का दूध छोटे शिशु को भी दिया जा सकता है।
भैंस का दूध कफ बढ़ाता है। गाय का दूध पित्त और वात दोष मिटाता है।
भैंस के दूध में गाय के दूध की अपेक्षा अधिक सॉलिड तत्व होते हैं , इसलिए वो गाढ़ा और अधिक क्रीमी होता है। इसमें गाय के दूध की अपेक्षा लगभग दुगनी मात्रा में फैट होते हैं।
भैंस के दूध में कैल्शियम , मैग्नीशियम तथा सोडियम गाय के दूध से ज्यादा होते हैं। गाय के दूध में विटामिन तथा प्रोटीन अधिक होते हैं।
कैल्शियम की अधिकता के कारण भैंस का दूध हड्डी , दांत और पुष्टता के लिए अच्छा होता है जबकि गाय के दूध में आयोडीन भी होता है तथा यह हड्डी , दांत के अलावा थायराइड तथा हार्ट के लिए भी फायदेमंद होता है।
भैंस का दूध गाढ़ा और अधिक क्रीमी होता है अतः व्यावसायिक रूप से इससे खोया , दही , पनीर , घी आदि बनाये जाते हैं। जबकि गाय के दूध से छेना , सन्देश , रसगुल्ला आदि अच्छे बनते है। क्लिक करके इसे भी पढ़ें : पनीर नर्म और स्पंजी कैसे बनायें घर पर
भैंस का दूध भारत, पाकिस्तान और इटली में अधिक पिया जाता है जबकि गाय का दूध पूरे विश्व में पिया जाता है।
गाय के दूध से बना घी पित्त कम करता है और पाचन शक्ति बढ़ता है जबकि भैंस के दूध से बना घी कफ में वृद्धि करता है।
भैंस का दूध निकालना गाय की अपेक्षा अधिक आसान होता है। दूध निकालते समय भैंस अपेक्षाकृत शांत रहती है।